AKHANDA WATCH THIS AFTER PUSHPA MOVIE

 

AKHANDA WATCH THIS AFTER PUSHPA MOVIE



कुछ फिल्मे होती हैं जो दिमाग के लिए नहीं सिर्फ आंखों के लिए बनाई जाती हैं। पूरे 2 घंटे असली दुनिया को भूल कर आप एक दूसरी दुनिया में पहुंच जाते हो। सिटी मारो ताली भूल जाओ सारे टेंशन भूल जाओ। इसको बोलते हैं मां CINEMA हमारी इंडियन फिल्म इंडस्ट्री की पहचान रहा है। एंटरटेनमेंट एंटरटेनमेंट एंटरटेनमेंट वीकली लेटर पहुंच जाते हैं। टिकट खरीद के लेकिन आज एमआर CINEMA आपके घर लेकर आया हूं।



 मैं AKHANDA यह वह है जिसमें दिमाग बिल्कुल नहीं लगा ना आपको लेकिन दिल हंड्रेड परसेंट खुश हो जाएगा। आपका इंडिया में ऐसी फिल्में बनती देखकर बॉलीवुड से तो ऐसी उनकी उंगली लगाना बेकार है क्योंकि हम गहराइयों में अटके हैं तो वहां पुष्पा पूरी दुनिया पर राज कर रहा है। बस उसी तेलुगू इंडस्ट्री से ढूंढ कर लाए हुए खजाने को मैं सिर्फ इनके आगे बड़े-बड़े झुक जाते हैं।


WATCH AKHANDA MOVIE


 सिर्फ एक आपसे पूरी दुनिया पॉइंट जीरो जीरो वन सेकेंड में खत्म कर सकते हैं। यह लेकिन कभी सोचा आपने जिस मूर्ति के सामने आप सर झुकाते हो उसमें से खुद से बाहर निकल के धरती पर आ जाए तो फिर क्या होगा? तांडव, सर्वनाश या फिर मौत का नंगा नहाते वक्त इस कहानी में मिलेगा। आपको जंगल के बीचों बीच मौजूद है कि मैं खुद। होती है कॉपर की, लेकिन यह सब दुनिया को दिखाने के लिए असलियत में यहां यूरेनियम को ढूंढ निकाला जा रहा है।


 यूरेनियम का इंट्रोडक्शन ऐसे समझ लो, आप की सबसे खतरनाक एलिमेंट है जिसका इस्तेमाल न्यूक्लियर वेपन बनाने के लिए किया जाता है। न्यू पूरी दुनिया को हिला सकता है कि राजा है। वरदान के नाम से पूरा शहर का है। पुलिस से लेकर नेताजी टोपी और मोटा पैसा बनाने वाले बिजनेसमैन के सामने सर झुकाते हैं। लेकिन पर्दा का सिर्फ एक इंसान के सामने झुकता है। बाबा जी इनके पास है जादुई शक्ति यह लोगों का भविष्य देख लेते हैं और हम बाबाजी के पास काली शक्तियां भी है। ब्लैक मैजिक पूरी टीम है



। 

इनकी तो किसी भी इंसान को परेशान से लेकर शमशान तक पहुंचाने का तंत्र मंत्र जानते हैं। अब कहानी में ट्विस्ट है कि वर्धा की -2 यूरेनियम निकलता है। उसकी रेडिएशन से आस पास वाले गांव के लोग बुरी तरह बर्बाद हो रहे हैं। मेंटली और फिजिकली बस यहां एंट्री होती है। कहानी के हीरो की मुरली कृष्णा हॉस्पिटल के मालिक हैं जहां गरीब लोग माइंस के रेडिएशन से बीमार होकर जिंदगी मौत के बीच लड़ाई लड़ रहे हैं मुरली भाई! जाते हैं खुल्लम-खुल्ला बड़ा को चैलेंज करने माइंस बंद करो वरना पीट-पीटकर बंद करवा दी जाएगी।


AKHANDA MOVIE DOWNLOAD


 लेकिन बाबा जी का पावर और काली शक्तियां हीरो को 2 मिनट में कहानी से गायब कर देती हैं। वर्धा की माइंस को रोकने वाला कोई नहीं बचा। लोग मरेंगे तो मरते रहे। बस तभी पल में एंट्री होती है। एक शायरी इंसान है या भूत कोई नहीं जानता। शक्ल हुकुम मुरली कृष्णा से मिलती है, लेकिन वह बेचारे तो पुलिस की कस्टडी में है तो फिर बंद आखिर है। कौन यह है AKHANDA जो खुद कुछ बोलते हैं। हाथ में त्रिशूल हथियार है।


 इनका इनके बारे में जरूरी बात जो आपको जान लेनी चाहिए। यह मौत से नहीं डरते। मौत इन से डरती है। अब बहुत होगा। तगड़ा वाला मुकाबला एक तरफ AKHANDA और उनका त्रिशूल तो दूसरी तरफ बाबा जी और उनका ब्लैक मैजिक और साथ में बरदा भी है जो किसी इंसान के रूप में शैतान से कम नहीं है। लेकिन एक जरूरी सवाल आपने पूछा ही नहीं, मुरली कृष्णा और अंडा दोनों एक जैसे क्यों देखते हैं।


 इन दोनों के बीच में कनेक्शन क्या है? क्या सच में शिव धरती पर उतर आए हैं। अगर हां तो फिर उनका मकसद क्या है या फिर अंडा सामने से जो दिखता है, वह अंदर से कुछ और ही है क्या? देखो बहुत स्मार्ट CINEMA कैसा बनना चाहिए, उसका परफेक्ट एग्जांपल है। 


यह फंक्शन प्लस इमोशन प्लस डिवोशन खतरनाक कॉन्बिनेशन है। यह जिसको जिंदगी भर याद रखोगे। आप खुद सीन इतनी ज्यादा भी सच में चौक जाओगे। आप अपने इंडियन सेवा में भी इस लेवल की क्रिएटिविटी मौजूद है। क्या भरोसा नहीं होगा। अभी देखो बॉलीवुड रिमेक बना कर ओरिजिनल का पूरा क्रेडिट चुरा ले। उससे पहले जाकर उसको देख लो। मजा तो दोस्तों को भी दिखाना कहां हॉटस्टार पर मैंने बोला था ना सीधा घर पर खेड़ा चलकर आएगा तो आ गया। देख कर बताना। जरूर सुन कैसी लगी। 


Post a Comment

0 Comments